ब्रेकिंग
पी पी ए के प्रदेश अध्यक्ष बने चंद्रभान तिवारी तो महासचिव बने उमाशंकर शुक्लानाव द्वारा नदी से अवैध बालू का धड़ल्ले से हो रहा है खनन, विभाग मौनशौचालय को लेकर हुआं विवाद तो सिंदूरिया थाने की पुलिस ने पात्र के खिलाफ लिखा मुकदमापत्रकार रोहित शुक्ल के जन्मदिन पर बधाईयों की लगी तांताकेएम अग्रवाल की रचनाधर्मिता अनुकरणीय: प्रो. जनार्दनयोग से होगा जीवन शैली में आवश्यक बदलाव: डॉ अजय पीजी कॉलेज में योग सप्ताह प्रारंभनगर अध्यक्ष द्वारा दिए गए नोटिस को अधिशासी अधिकारी बताती है प्रेम पत्र, उकसाने पर पंचायत कर्मियों ने दिया धरना, सड़कों पर बिखेरा कूड़ाउत्कर्ष ने एआईआर 319 रैंक हासिल कर किया सिटी टॉपकमलेश पासवान को केंद्र सरकार में मंत्री बनाए जाने पर फूटे पटाखे, बटी मिठाईयां*गोरखपुर स्थित एक सेमिनार में गरजे प्रयागराज के लाल कुलदीप पाण्डेयतेरह सूत्रीय मांगों को लेकर प्रधानों ने सौंपा ज्ञापनघुघली बुजुर्ग में प्रधानी चलाने को लेकर दो पक्षों में चला आ रहा है विवादशम्स तबरेज का नाम ऑल इंडिया नीट परीक्षा में चयनगठबंधन नहीं तोड़ पाया भाजपा का किला,सातवी बार पंकज चौधरी के सिर बंधा जीत का सेहरा,हादसा: पिकअप की ठोकर से एक किशोर सहित दो की दर्दनाक मौत, गांव में छाया मातम

संतकबीर नगर

लघु उद्यमियों को राज्यसभा सांसद व डीएम ने 46 लाख रुपए लोन किये वितरण

लखनऊ से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 16 हजार करोड़ रुपए लघु उद्यमियों को लोन वितरण का किया शुरुआत

गोरखपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर प्रदेश के लघु उद्यमियों को 16 हजार करोड़ लोन वितरण करते हुए लोन वितरण का शुरुआत किया गोरखपुर एनआईसी सभागार में 5 उद्यमियों को 46 लाख रुपए राज्यसभा सांसद डॉक्टर राधा मोहन दास अग्रवाल जिला अधिकारी कृष्ण करुणेश द्वारा गोपाल सहानी पुत्र बसंत साहनी 800000 रेडीमेड गारमेंट्स उद्योग प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के तहत फहद अजीम पुत्र अब्दुल अजीज सिद्धकी पेपर कप उद्योग के लिए 1000000 रुपए मुख्यमंत्री युवा रोजगार योजना के अंतर्गत सनी शर्मा पुत्र धर्मेंद्र शर्मा रेडीमेड गवर्नमेंट उद्योग के लिए 800000 एक जनपद एक उत्पाद वित्त पोषण योजना के अंतर्गत पंकज गुप्ता पुत्र रामबचन गुप्ता आराध्य ट्रेडर्स के लिए 1000000 रुपए पीएम मुद्र योजना अमित कुमार सिंह पुत्र रामानंद सिंह वृद्धा ट्राइलस के लिए 1000000 रुपए पीएम मुद्रा योजना से वितरण किया। लोन पाकर लघु उद्यमियों के चेहरे खिल उठे। मुख्यमंत्री योगी एमएसएमई विभाग के माध्यम से छोटे उद्यमियों को 16 हजार करोड़ रुपये के ऋण वितरण कार्यक्रम की शुरूआत कर दी है. सीएम ने वृहद ऋण मेला के अंतर्गत 1.90 लाख हस्तशिल्पियों, कारीगरों और छोटे उद्यमियों को ऋण देने के साथ ही साल 2022-23 की 2.35 लाख करोड़ रुपये की वार्षिक ऋण योजना का भी शुभारंभ किया. इस दौरान मुख्यमंत्री ने लोन लेने वाले सभी हस्तशिल्पियों और कारीगरों को योजना का लाभ उठाने और आत्मनिर्भर बनने के लिए बधाई दी. बता दें कि प्रदेश भर के तमाम जिलों में इस लोन मेले का आयोजन किया गया और लघु उद्यमियों को लोन वितरण किया गया।
लोकभवन में आयोजित लोन मेला कार्यक्रम में सीएम ने कहा कि 2017 के पहले यह क्षेत्र पूरी तरह खत्म हो गया था लेकिन 2017 में जब बीजेपी की सरकार आई तो बहुत सी चुनौतियां थीं देश की सबसे बड़ी आबादी वाले राज्य मे युवाओं के स्वावलंबन का विषय बहुत महत्वपूर्ण था सीएम ने कहा कि पहले की सरकारें केंद्र की योजनाओं में कोई रुचि नही लेती थीं लुप्त हो रही नदियों के लिए भी कोई योजना नहीं थी. उनकी कोई इच्छाशक्ति भी नहीं थी 2017 में सत्ता संभालने के बाद एक जनपद एक उत्पाद की कार्ययोजना बनाकर काम शुरू किया. आज 1 लाख 56 हजार करोड़ के प्रोडक्ट्स एक्सपोर्ट हो रहे हैं हस्तशिल्पी और कारीगरों ने अपने कौशल का परिचय दिया बैंकर्स ने सहयोग किया आज हमने बेरोजगारी दर को 3 फीसदी कम कर दिया है.सीएम योगी ने कहा कि पहले लोन देने के लिए किसको लोन देना चाहिए नहीं पता होता था कोरोना काल में भी देश का पहला लोन मेला आयोजित किया गया था इस सकरात्मक पहल का असर अब दिखाई दे रहा है सीएम ने कहा कि उन्होंने कारीगरों और हस्तशिल्पियों से बात की इनका सहयोग स्थानीय प्रशासन, बैंकर्स और शासन सबने किया आज उनके चेहरे पर नई चमक है. वो स्वयं स्वावलंबी बन रहे हैं और लोगों को भी प्रेरित कर रहे हैं प्रधानमंत्री ने कहा था हमारा नौजवान नौकरी देने वाला होना चाहिए आज ये ओडीओपी कार्यक्रम इसी दिशा में आगे बढ़ रहा है हमारा प्रयास है कि अगले एक साल में उत्तर प्रदेश के हस्तशिल्पियों और उद्यमियों के साथ राज्य सरकार मजबूती से खड़ी रहे और उन्हें मजबूती प्रदान करें सीएम ने कहा कि हमारा यह प्रयास शासन की 100 दिन की कार्ययोजना का हिस्सा था. अगले 6 महीने में सितंबर में फिर से इस योजना को और आगे बढ़ाने का काम किया जाएगा. जल्द ही हर परिवार के एक व्यक्ति को नौकरी, रोजगार, स्वतः रोजगार से जोड़ने की कार्ययोजना लेकर आ रहे हैं. नौजवानों को अधिक से अधिक स्वावलंबी बनाने के कार्य मे केंद्र सरकार और राज्य सरकार मिलकर काम करने की ओर अग्रसर हैं. डिजिटल पेमेंट की ओर हमें और आगे बढ़ना होगा

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!