ब्रेकिंग
नाव द्वारा नदी से अवैध बालू का धड़ल्ले से हो रहा है खनन, विभाग मौनशौचालय को लेकर हुआं विवाद तो सिंदूरिया थाने की पुलिस ने पात्र के खिलाफ लिखा मुकदमापत्रकार रोहित शुक्ल के जन्मदिन पर बधाईयों की लगी तांताकेएम अग्रवाल की रचनाधर्मिता अनुकरणीय: प्रो. जनार्दनयोग से होगा जीवन शैली में आवश्यक बदलाव: डॉ अजय पीजी कॉलेज में योग सप्ताह प्रारंभनगर अध्यक्ष द्वारा दिए गए नोटिस को अधिशासी अधिकारी बताती है प्रेम पत्र, उकसाने पर पंचायत कर्मियों ने दिया धरना, सड़कों पर बिखेरा कूड़ाउत्कर्ष ने एआईआर 319 रैंक हासिल कर किया सिटी टॉपकमलेश पासवान को केंद्र सरकार में मंत्री बनाए जाने पर फूटे पटाखे, बटी मिठाईयां*गोरखपुर स्थित एक सेमिनार में गरजे प्रयागराज के लाल कुलदीप पाण्डेयतेरह सूत्रीय मांगों को लेकर प्रधानों ने सौंपा ज्ञापनघुघली बुजुर्ग में प्रधानी चलाने को लेकर दो पक्षों में चला आ रहा है विवादशम्स तबरेज का नाम ऑल इंडिया नीट परीक्षा में चयनगठबंधन नहीं तोड़ पाया भाजपा का किला,सातवी बार पंकज चौधरी के सिर बंधा जीत का सेहरा,हादसा: पिकअप की ठोकर से एक किशोर सहित दो की दर्दनाक मौत, गांव में छाया मातमआकर्षक झांकियों के बीच मनाई जाएगी शनि जयंती

महाराजगंज

निचलौल में करोड़ की नशीली दवाइयां बरामद एक गिरफ्तार,

महराजगंज जनपद निचलौल तहसील अंतर्गत ठूठीबारी कोतवाली थाना क्षेत्र में पुलिस एसएसबी और प्रशासन की संयुक्त टीम ने बड़ी कार्रवाई करते हुए नशीली दवाओं की एक बड़ी खेप बरामद की है बरामद किए गए नशीली दवाओं की कीमत भारतीय बाजार में लगभग 686 करोड़ रुपए बताई जा रही है।
भारत नेपाल सीमा पर ठुठीबारी थाना क्षेत्र के जमुई कला गांव स्थित एक गोदाम में यह सभी मादक पदार्थ और दवाई रखी हुई थी। इन सभी दवाओं को नेपाल भेजने की तैयारी बनाई जा रही थी
इस मामले की जानकारी मीडिया को देते हुए पुलिस अधीक्षक प्रदीप गुप्ता ने बताया कि इतनी बड़ी मात्रा में नशीली वह प्रतिबंधित दवाओं का कारोबार वर्षों से भारत नेपाल की सीमा पर फल फूल रहा था।
लेकिन अब पुलिस प्रशासन इनके गिरोह के जड़ तक पहुंचने की कोशिश में जुटी हुई है।
मंगलवार को प्रभारी थाना अध्यक्ष अरुण कुमार दुबे अपनी टीम के साथ कस्बा गड़ौरा में वाहन चेकिंग में मौजूद थे।
तभी मुखबिर के द्वारा एक खास सूचना मिली की कोतवाली थाना क्षेत्र के जमुई कला गांव में गोविंद प्रसाद गुप्ता पुत्र भोली प्रसाद गुप्ता अपने भाई के साथ मिलकर आवाज नशीली दवाओं का धंधा करता था और उनके मकान में भारी मात्रा में आवाज नशीली दवाओं का भंडार मिला है।
इन नशीली दवाओं को अपने घर से ही इस धंधे में संलिप्त अन्य लोगों को सप्लाई करता है और नशा करने वालों के घर आकर नशीले इंजेक्शन टेबलेट सिर आपात की खरीदारी और सेवन करते है ।
सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे एसडीएम पुलिस बल और यशस्वी द्वारा छापा मारकर मौके से एक अभियुक्त को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई तू उस व्यक्ति ने अपना नाम राकेश कुमार गुप्ता पुत्र बोलिए प्रसाद गुप्ता निवासी जामुन कला उम्र 55 वर्ष थाना ठूठीबारी जनपद महराजगंज बताया।
निचलौल एसडीएम प्रमोद कुमार कुमार के नेतृत्व में रमेश कुमार गुप्ता के घर की तलाशी ली गई तो लाखों की संख्या में विभिन्न प्रकार की नशीली दवाएं बरामद हुई।
और दो बाल्टी पानी में इंजेक्शन का एम्पुल डुबोकर रखा मिला।
जब इस संबंध में रमेश कुमार से पूछा गया तो बताया कि इन पूल को पानी में इसलिए भिगो देते हैं जिससे कि इस पर लगा मूल्य लेवल आसानी से निकल जाए मल्लेबल निकल जाने पर दूसरा लेब्रा देख मूल्य का चस्पा कर देते हैं गिरफ्तारी और बरामदगी के आधार पर थाना स्थानीय पर मु0अ0सं0 91/21 धारा 8/22 एनडीपीसीए एक्ट, धारा 18(A)/27 औषधि प्रसाधन सामग्री अधिनियम धारा419/420/467/468/471 भा0द0वि एवं धारा 63/65 कॉपीराइट अधिनियम का अभियोग पंजीकृत कर अभियुक्त रमेश कुमार गुप्ता को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेजा गया।
जिलाधिकारी डॉ विजय कुमार ने पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि जनपद में नशे का अवैध कारोबार करने वाले के विरुद्ध अब तक की सबसे बड़ी कामयाबी है।
और इसके लिए इस ऑपरेशन में पूरी टीम बधाई के पात्र हैं।
अभी तक के जांच में पता चला है कि यह गिरोह अवैध रूप से सीमा पार मादक पदार्थ नशीली दवाओं को नेपाल में भेजा करते थे।
इस गिरोह के निशाने पर दोनों देशों के युवा थे आगे इस मामले की विस्तृत जांच ठूठीबारी पुलिस करेगी और दोषी पाए जाने वाले प्रत्येक शख्स के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।
कमांडेंट (एसएसबी) मनोज कुमार ने बताया यह दवाइयां लोकल दुकानों के अलावा नेपाल तस्करी कर ले जाई जाती थी।
बॉर्डर के दोनों तरफ के युवा इस नशीली दवाइयां के लत में है कमांडेंट ने बताया 30 बरामदगी के बाद युवाओं के द्वारा कुछ हद तक रोक लग सकती है।
इसके अलावा इस गिरोह को तोड़ने का भी काम किया जाएगा उन्होंने आगे कहा कि पुलिस और यशस्वी के सामने भारत नेपाल की खुली सीमा पर इस तरह के अवैध गतिविधियों को रोकने के लिए सबसे बड़ी चुनौती होगी खासकर ऐसे मौके पर जब बड़े पैमाने पर नशीले इंजेक्शन और दवाओं का कारोबार भारत नेपाल की खुली सीमा पर तेजी से फल-फूल रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!